test
Home ज्योतिष

ज्योतिष

प्रिय मित्रों/पाठकों, इस बार शरद पूर्णिमा रविवार ( 30 अक्तूबर, 2020) को मनाई जाएगी। ऐसा कई वर्षों में पहली बार हो रहा है जब शरद पूर्णिमा और शनिवार का संयोग बना है। इस दिन पूरा चंद्रमा दिखाई देने के कारण इसे महापूर्णिमा भी कहते हैं। इस दिन चन्द्रमा 16 कलाओं से युक्त होता है, इसलिए इस दिन का विशेष...
अगले महीने 30 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। इसका सीधा असर व्यक्ति के मन पर पड़ेगा, क्योंकि चंद्रमा को मन का कारक माना जाता है। इस साल 2020 के नवंबर महीने में आखिरी चंद्र ग्रहण लगने वाला है। जो एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा। इस वर्ष का यह आखिरी चंद्र ग्रहण वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र...
प्रिय पाठकों /मित्रों , ज्योतिष की मान्यता एवं प्राचीन धर्म ग्रंथो के अनुसार तथा हिन्दू-पंचांगों के अनुसार आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा, कोजागरी पूर्णिमा या रास पूर्णिमा कहते हैं। ज्योतिषाचार्य पंडित दयानन्द शास्त्री ने बताया की वैदिक ज्योतिषीय ग्रंथों के अनुसार शरद पूर्णिमा के दिन औषधियों की स्पंदन क्षमता अधिक होती है, पूरे साल...
परफ्यूम/खुशबू/सुगंध के प्रयोग से भाग्य को बदला जा सकता है। खुशबू का प्रयोग करके आप अपने चाहने वालों को अपने करीब ला सकते हैं। लव पार्टनर को सदैव के लिए अपना बना सकते हैं। जब आप अपने लव पार्टनर के साथ होते हैं तो आपकी खुशबू आपके पार्टनर की सासों में होती है और जब आप अपने लव पार्टनर...
राशिफल का हमारे भाग्य व भविष्य की घटनाओं पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है । सूर्य सिद्धांत नामक पुस्तक हमारे नक्षत्र, सितारे इत्यादि देखकर भविष्य में घटित हो सकने वाली घटनाओं का मासिक व वार्षिक आंकलन करती हैं । इन्हीं के आधार पर आपको पता चलता हैं कि आने वाला समय या माह आपके लिए शुभ होगा या अशुभ । यदि...
चन्द्रमा मन का अधिष्ठाता है। मन की कल्पनाशीलता चन्द्रमा की स्थिति से प्रभावित होती है। ब्रह्मांड में जितने भी ग्रह हैं, उन सभी का व्यक्ति के ‍जीवन पर विशेष और अत्यंत महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। मानव ने जब से काल के चिंतन का आरंभ किया, उसी समय से चन्द्रमा उसके लिए अपने घटने-बढ़ने की प्रक्रिया के कारण प्रकृति का...
वर्तमान समय में अभिनय की दुनिया में भी बहुत से युवक-युवतियाँ अपना भाग्य आजमाने के लिए प्रयास रहते हैं। बहुतों को सफलता मिलती है और बहुत से असफल भी रहते हैं। ऎसे कौन से योग होते हैं जिनके आधार पर व्यक्ति सफल रहता है। आइए जानने का प्रयास करें। फिल्म अभिनेता हो या फिर टेलिविजन के पर्दे पर काम करने...
महिमा चौधरी का जन्म 13 सितंबर 1973 को दार्जिलिंग, पश्चिम बंगाल में सुबह 3 बजकर 30 मिनट पर सिंह लग्न ओर कुम्भ राशि मे हुआ था। जन्म नक्षत्र पूर्वा भाद्रपद का तृतीय चरण हैं। वर्तमान में केतु की विंशोत्तरी महादशा में बुध की अंतर्दशा चल रही है। अक्टूबर 2020 से 20 वर्ष के लिए शुक्र की महादशा आरम्भ...
हिंदू धर्म ग्रंथों में प्रकृति को देवता कहा गया है। जल, अग्नि, वायु, धरती और आकाश, इन पंचतत्वों से बने शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी इन पांच तत्वों की आवश्यकता होती है। इन्हीं पंचतत्वों में से एक है धरती। इस पर पाई जाने वाली समस्त वनस्पतियां, पेड़-पौधे हमारे जीवित रहने के लिए जितने जरूरी हैं, उतने...
मनमोहन सिंह का जन्म पंजाब प्रान्त ( अविभाजित भारत ) में 26 सितम्बर, 1932 को हुआ था। मन मोहन सिंह जी भारत के पूर्व प्रधान मंत्री रहे, साथ ही साथ वे एक अर्थशास्त्री भी हैं। उनकी माता का नाम अमृत कौर और पिता का नाम गुरुमुख सिंह था। इनकी राशि कर्क है, मनमोहन सिंह की कुंडली में शुक्र ग्रह अकारक...

प्रख्यात लेख

मेरी पसंदीदा रचनायें

error: Content is protected !!